Astrology of Bollywood Stars

सौरभ शुक्ला का ज्योतिष – Saurabh Shukla Astrology

सौरभ शुक्ला एक बेहतरीन और जबरदस्त कलाकार है और अपने अभिनय से फिल्म जगत में एक अलग पहचान बनाई है। सौरभ शुक्ला एक अभिनेता के साथ-साथ थियेटर कलाकार, निर्देशक और स्क्रीनराइटर भी है। इनका जन्म मिथुन राशि और मिथुन ही लग्न में हुआ है जिसका स्वामी ग्रह बुध है और इनका जन्म गुरू की महादशा में हुआ है।

सौरभ शुक्ला की जन्मकुंडली
5 मार्च 1963 12.00 बजे गोरखपुर

Saurabh Shukla kundli chart

चुंकि इनका जन्म मिथुन लग्न में हुआ है इसलिए दयालुता, बुद्धिमता और वाक्पटुता के द्वारा सबको अपनी ओर आकर्षित कर लेते है। भाषणकला और विनम्रता के धनी है। मिथुन राशि होने से सिद्धान्तवादी और अनुशासनप्रिय वाला व्यक्तित्व है। लग्नेश का नवम भाव में होना व्यक्ति को भाग्यशाली बनाता है और सौरभ शुक्ला ‘जादू का भूत है’।

‘जो बोले वो सच हो जाये ऐसा जीवन पाये’ बुध और सूर्य नवम में होने से इनको पैतृक संपत्ति दिलाता है और गुरू के साथ होने से सुख की प्राप्ति जीवन भर रहेगी। सौरभ शुक्ला का सूर्य पापी है किन्तु यहां पाप प्रभाव न देकर शुभ प्रभाव दें रहा है इसलिए अपने परिवार के लिए अपनी कुर्बानी देने के लिए सदा तत्पर है इसी के कारण इनको भौतिक, सामाजिक और आध्यात्मिक रूतबा प्राप्त हो रहा है और जनसंपर्क बड़ता जायेगा। गुरू सूर्य और बुध की इनको पराक्रमी बनती है राज्यपक्ष से लाभ दिला रही है और मुकदमों में विजय दिलायेगी यदि कहा जाये तो सौरभ शुक्ला को ‘दहकता सोना’ भी बोला जा सकता है। विवाह के बाद भाग्योदय होने का योग बना हुआ है। जीवन के अंतिम भाग में गंगा स्नान का सुख प्राप्त होगा।

शुक्र शनि और केतु की अष्टम भाव में युति शाल्यचिकित्सा योग बना रही है और जीवनसंगनी द्वारा निकला कोई भी शब्द पत्थर की लकीर बनेगी। शनि के कारण विमलनामक विपरीत राजयोग का निर्माण हो रहा है और जीवन में सफलता धीरे-धीरे प्राप्त करवा रहा है। प्रतिदिन कुत्ते को रोटी देने से जीवन में अधिक सफलता मिलेगी।

– ज्योतिर्विद बॉक्सर देव गोस्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *