Gemini
राशियां

मिथुन राशि (Gemini)

मिथुन राशि के व्यक्ति मिलनसार और दूसरों के साथ मिलकर काम करने वाले होते हैं। ये व्यक्ति विद्याप्रेमी और अध्ययनशील होते हैं। इनको आये दिन नये विचार सूझते हैं और यह एक जगह टिक कर काम नहीं कर सकते। ये लोग बातचीत में चतुर होते हैं तथा इन में व्यापारिक बुद्धि भी होती है। ये घूमने-फिरने के शौकीन होते हैं और समाज में नये दोस्त बनाते हैं। इनके विचारों में स्थिति के अनुसार परिवर्तन होता रहता है। अगर इनको क्रोध आ जाए तो बाद में पश्चाताप करते हैं। इनकी आर्थिक स्थिति में भी परिवर्तन होता रहता है तथा यह लोग ज्यादा धन इकट्ठा नहीं कर सकते। न ही बहुत ऊँचे पद पर पहुंचने की इनमें इच्छा होती है। मिथुन राशि के जातक हंसी-खुशी राग रंग से अपना जीवन बिताते हैं। यह लोग रेडिया, दूरदर्शन, टेलीफोन एक्सचेंज, ट्रांसपोर्ट, समाचार पत्रें में अधिकतर काम करते हैं। लेक्चरर, वकील, डाक्टर, राजदूत भी बनते हैं। यह लोग सैल्ज़मैनशिप में विशेषकर सफलता प्राप्त करते हैं।

आफिस में यह लोग वृष राशि वालों की तरह ओवर टाइम बैठ कर काम नहीं कर सकते। दिन में थोड़ी देर काम करने के बाद उक्ता जाते हैं और फिर इधर-उधर घूमकर बातें करके फिर अपनी सीट पर बैठ जाते हैं और स्पीड से अपना काम खत्म कर लेते हैं। यह लोग कामचोर नहीं होते। इन लोगों की आमदनी के साधन प्रायः एक से अधिक होते हैं। एक मुख्य और एक गौण।

अगर यह व्यक्ति कम्पनी अथवा ऑफिस के मैनेजर नियुक्त हो जाएं तो सारा काम आगे अपने नीचे काम करने वालों के सुपुर्द कर देते हैं और स्वयं खाली बैठते हैं। इस प्रकार कर्मचारियों को आगे बढ़ने का मौका मिलता है।

परिवर्तनशील प्रकृति के होने के कारण यह लोग प्रणय संबंधों में स्थिर नहीं होते । ये विपरीत सैक्स वालों को शीघ्र ही अपनी बातचीत से अपनी ओर आकर्षिक कर लेते हैं। इसलिए इनके कई लव अफेयर चलते हैं। इनके प्रेम संबंधों में वासना का आधार कम होता है। अध्ययनशील ज्ञानयुक्त हॉली-डे-मूड में रहने वाले लोग, कला साहित्य, राग-रंग में रूचि रखने वाले, अपने जैसा परिवर्तनशील विचारों वाला साभी ढूंढते हैं।

मिथुन राशि की स्त्रियां भी मिलनसार तथा बातचीत में तेज़ होती है। इनके भी प्रणय संबंध एक से अधिक लोगों से होते हैं क्योंकि यह पुरूषों से किसी भी विषय में बात करने में नहीं झिझकतीं, इनको अपनी सोसायटी में अक्सर गलत समझ लिया जाता है। मिथुन राशि की स्त्रियां ऑफिस में रिसैपशनिस्ट, स्टैनो, टाइपिस्ट अथवा सेल्ज-गर्ल्ज के रूप में अधिक सफल हो सकती हैं। मिथुन राशि वाले पति अपनी पत्नियों को तथा इस राशि वाली पत्नियां अपने पति पर शक नहीं करते। यह लोग एक दूसरे को प्रणय संबंधों के मामले में कुछ छूट दें देते हैं, जिससे घरेलु जीवन में झगड़ा नहीं होता। ये लोग अपनी असल आयु से बहुत कम आयु के लगते हैं।

यह लोग स्वयं अनुशासन में रहना पसन्द नहीं करते। अतः बच्चों को भी अनुशासन में रहने से छूट दें देते हैं जिससे बच्चों की आदत बिगड़ सकती है। इनके सन्तान अधिक होती है।

मिथुन राशि के व्यक्तियों को प्रायः मलेरिया, खसरा, मोती झरा, मसानों की कमजोरी इत्यादि रोग लग सकते हैं। इनके सहयोगी, पड़ौसी, ससुराल पक्ष इनके विरूद्ध षड्यन्त्र रचने की कोशिश करते रहते हैं।

शुभ वारः           बुधवार
शुभ अंकः          5
शुभ रंगः            हरा और हल्का पीला।
स्वामीः              बुध
राशि तत्वः         वायु

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *