Virgo
राशियां

कन्या राशि (Virgo)

कन्या राशि के जातक लज्जालु स्वभाव के होते हैं तथा भीड़-भाड़ से दूर रहना पसन्द करते हैं यही कारण है कि आप पार्टियों में इनकों अलग-थलग खड़ा देख सकते हैं। इनको हर चीज़, व्यक्ति देखने की, जांच करने तथा परखने की आदत होती है तथा नुक्ताचीनी करना इनकी आदत होती है। मित्र या प्रेयसी बनाने से पहले यह उसके गुणों अथवा अवगुणों का भली-भान्ति अध्ययन करते हैं। यह लोग हरदम विचारों में मग्न, चिन्ताशील रहते हैं। ये लोग बुद्धिमान, व्यावहारिक बुरे-भले की पहचान करने वाले होते हैं। जीवन में इनके एक-दो मुकदमें भी चलते हैं।

यह लोग रोमांस के शौकीन नहीं होते। अतः इनके प्रेम संबंध बहुत कम होते हैं। करोनिक बैचेलर इसी राशि के ज्यादा होते हैं। क्योंकि इनको कोई लड़की शीघ्र पसन्द नहीं आती। ये लोग ग्लैमर को पसन्द नहीं करते। हां लड़की सभ्य, सुन्दर, लजीली, साफ-सुथरे सादे लिबास में हो तो इनको पसन्द आ सकती है। पसन्द आने के बाद अथवा शादी के बाद ये लोग बहुत वफादार रहते हैं। इनकी सन्तान एक या दो से अधिक नहीं होती।

ये लोग कलाकार, लिटरेरी कृटिक, मनोवैज्ञानिक, लैक्चरर, दार्शनिक फिलास्कर, साईंटिस्ट, स्टैटिस्टीशियन, एकाऊटैंट, वकील बनते हैं। ये व्यक्ति किसी भी किस्म के व्यापार में सफलता प्राप्त करते हैं। यह लोग प्रशासन अथवा प्राइवेट सेवाओं में, ऊंचे पद पर बहुत कम देखे गये हैं। असिटैंट के रूप में यह व्यक्ति बहुत सफल होते हैं तथा हर काम को सुचारू ढंग से करते हैं। ये लोग अथक मेहनती होते हैं तथा ओवर टाइम बैठने की आदत होती है ताकि काम खत्म हो सके। इन लोगों पर विश्वास किया जा सकता है। ऑफिस में अपने साथी कर्मचारियों में कम लोकप्रिय होते है।
कन्या राशि की औरतें लजीली, घरेलु टाईप होती हैं तथा शादी से पहले यह प्रेम संबंध बनाने की इच्छा नहीं रखतीं।

इन लोगों को खुले हवादार मकानों में रहना सेहत के लिए अच्छा रहता है। इन लोगों को पेट की बीमारियों से बच कर रहना चाहिए। फेफड़ों की बीमारी भी हो सकती है। अगर इनको जीवन साथ अच्छा न मिले तो ये लोग बहुत निराश जीवन व्यतीत करते हैं।

शुभ वारः           बुधवार
शुभ अंकः          5
शुभ रंगः            हरा, नारंगी, पीला, अंगूरी, काफूरी और सफेद।
स्वामीः              बुध
राशि तत्वः         पृथ्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *