राशियां

मकर राशि (Capricorn)

मकर राशि वाले व्यक्ति गम्भीर, चिन्तनशील, शर्मीले होते हैं। यह लोग अपने उद्यम से अपने भाग्य का निर्माण करते हैं तथा आयु के साथ-साथ तरक्की करते जाती हैं। यह लोग अनुशासन पसन्द रूढि़वादी होते हैं तथा किसी प्रकार का विद्रोह नहीं करते है। यह लोग चुपचाप अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते जाते है। जिस बात का निश्चय करते हैं, पीछे नहीं रहते और किसी किस्म के झगड़े अथवा वाद-विवाद में नहीं पड़ते, न ही दूसरे के काम में दखलन्दाजी करते हैं। चेहरे से यह लोग उदासीन दिखाई देते हैं। इनको क्रोध देर से आता है और देर बाद ही शान्त होता है। इनके बारे में लोग अक्सर गलत धारणा बना लेते हैं। यह लोग बहादुरी से कठिनाईयों तथा निराशा का सामना करते हैं। भविष्य के बारे में हर समय चिन्ता करते रहना इनकी आदत सी हो जाती है। अतः इनको सुरक्षा की भावना की आवश्यकता होती है।

प्रेम के मामले में ऐसे जातक जिसके साथ प्रेम करते हैं अन्त तक निभाते हैं। इनके प्यार में वासना की झलक कम दिखाई देती है। इन लोगों में से कई कवि पैदा हुए हैं। प्रेम में अक्सर इन्हें निराशा मिलती है। लड़कियों से बात करते समय अक्सर इन्हें नर्वस देखा गया है।

मकर राशि की लड़कियां शहरों में अक्सर दफ्रतरों में काम करती पाई गई हैं। देखने में सुन्दर, अपनी बोल-वाणी, चाल-ढाल से अक्सर लोगों को आकर्षित करती हैं। परन्तु प्रेम के मामले में सूझ-बूझ से काम लेती हैं। जब इनको विश्वास हो जाये कि इनको चाहने वाला योग्य पति सिद्ध हो सकता है तभी यह आगे बढ़ती हैं। पत्नी के रूप में यह स्त्रियां बहुत लाभदायक रहती हैं तथा घर का काम सुचारू ढंग से चलाती है। बच्चों की देखभाल अच्छी करती है।

यह लोग अधिकतर नौकरी की अपेक्षा व्यापार में अधिक सफलता प्राप्त करते हैं। इनमें से लोग गणितज्ञ, वैज्ञानिक, राजनीतिज्ञ, बिलि्ंडग निर्माता, इंजीनियर, संगीत निर्देशक, राजकीय कर्मचारी बनते हैं।

आफिसर के रूप में ऐसे जातक अपनी जिम्मेदारी पूर्ण तौर पर निभाते हैं, लेकिन यह बहुत चतुर होते हैं। कर्मचारियों से जरूरत से ज्यादा काम लेना पसन्द करते हैं जो सुबह से रात तक इनका काम करें उनको यह लोग पसन्द करते है। ऐसे जातक कमाते ज्यादा हैं और खर्च कम करते हैं।

कर्मचारी के रूप में मकर राशि के जातक नीचे पद पर भी हो तो अपनी मेहनत, लगन से ऊंचे पद पर पहुंच जाते हैं। अपने साथी कर्मचारियों में यह लोग कम लोकप्रिय होते हैं। दूसरों को मकर राशि वाले जातक बोर लगते हैं। जिन मकर राशि वालों को उन्नति का चांस दिखाई न दें, वह निराशावादी हो जाते हैं और उनका चेहरा हमेशा उतरा हुआ नज़र आता है।

मकर राशि के जातकों को वायु विकार, पाचन शक्ति की खराबी तथा वृद्धावस्था में हृदय रोग होने का डर रहता है।

                                शुभ वारः      शनिवार

                                शुभ अंकः      8

                                शुभ रंगः       हरा, काला और खाकी।

                                स्वामीः         शनि

                                राशि तत्वः    पृथ्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *